23/09/2021
REGIONAL

11 मार्च को महाशिवारात्रि के पावन पर्व पर पढ़े ये कथा, इसके साथ ही जानें पूजा का मुहूर्त

फाल्गुन मास की चतुर्दशी तिथि को महाशिवरात्रि का पर्व मनाया जाता है। इस वर्ष महाशिवरात्रि का व्रत 11 मार्च 2021 को किया जाएगा। इस व्रत का बहुत माहतम्य माना गया है। पौराणिक कथाओं के अनुसार इस दिन भगवान शिव और माता पार्वती का विवाह हुआ था। महाशिवरात्रि पर रात्रि जागरण कर, चारों प्रहर पूजन करने का विधान माना गया है। महाशिवरात्रि का व्रत करने वालों को शिवरात्रि पर प्रातः स्नानदि करने के पश्चात पूजन करके निराहार व्रत करना चाहिए। इसके साथ रात्रि में पूजन करने के बाद प्रातः उठकर स्नान पूजन करने के बाद व्रत का पारण करना चाहिए। पूरे विधि-विधान के साथ पूजन करने के साथ महाशिवरात्रि की कथा भी पढ़नी चाहिए। तो चलिए जानते हैं महाशिवरात्रि पूजा का मुहूर्त और कथा। महाशिवरात्रि 2021 तिथि और का शुभ मुहूर्त महाशिवरात्रि पर्व दिन बृहस्पतिवार 11मार्च 2021 को मनाई जाएगी। चतुर्दशी तिथि आरंभ- 11मार्च 2021 दिन बृहस्पतिवार 02 बजकर 39 मिनट से। चतुर्दशी तिथि समाप्त- 12 मार्च 2021 दिन शुक्रवार को शाम 03 बजकर 02 मिनट पर। रात्रि में पूजा का समय रात्रि प्रथम प्रहर पूजा समय- 11 मार्च को 06 बजकर 27 मिनट से लेकर 9 बजकर 29 मिनट तक रात्रि द्वितीय प्रहर पूजा समय- 11 मार्च को 9 बजकर 29 मिनट से लेकर 12 बजकर 31 मिनट तक रात्रि तृतीय प्रहर पूजा समय – रात को 12 बजकर 31 मिनट से लेकर 03 बजकर 32 मिनट तक रात्रि चतुर्थ प्रहर पूजा समय- रात 03 बजकर 32 मिनट से लेकर 06 बजकर 34 मिनट तक एक समय गांव में एक शिकारी रहता था। वह शिकार करके अपने परिवार का पालन पोषण किया करता था। एक बार उसने किसी कारण से साहूकार से ऋण लिया, लेकिन वह ऋण नहीं चुका पाया। तब सेठ ने उसे शिव मंदिर में बंदी बना लिया। संयोग से उसके अगले दिन शिवरात्रि थी

Related posts

मां काली की शोभायात्रा निकाली

Web1Tech Team

जोया और पतेई खालसा में धू-धू कर जला रावण

Web1Tech Team

खुले धार्मिक स्थलों के कपाट

Web1Tech Team