21/10/2021
HAMIRPUR HIMACHAL PARDESH

सुजानपुर में 26 मार्च से 29 मार्च, 2021 तक मनाया जाएगा राष्ट्र स्तरीय होली महोत्सव, उपायुक्त ने की आयोजन समिति की बैठक की अध्यक्षता, स्वर्णिम हिमाचल होगी मेले की थीम

हमीरपुर/

राष्ट्र स्तरीय होली महोत्सव, सुजानपुर आगामी 26 मार्च से 29 मार्च, 2021 तक हर्षोल्लास के साथ आयोजित किया जाएगा। इस वर्ष मेले की विषय-वस्तु (थीम) स्वर्णिम हिमाचल पर आधारित होगी। इस आशय की जानकारी आज यहां मेला आयोजन समिति की बैठक की अध्यक्षता करते हुए उपायुक्त देबाश्वेता बानिक ने दी।

उन्होंने कहा कि मेले के शुभारंभ पर 26 मार्च को बेनी प्रसाद द्वार से मुरली मनोहर मंदिर तक शोभा यात्रा (जलेब) निकाली जाएगी और मंदिर में पूजा-अर्चना के उपरांत मुख्य अतिथि मेला मैदान में पहुंच कर प्रदर्शिनयों का अवलोकन करेंगे व सायं को सांस्कृतिक संध्या में भाग लेंगे। 28 मार्च, रविवार को परंपरागत रंगों वाली होली खेली जाएगी और हवन-पूजन का आयोजन भी किया जाएगा। कोविड-19 की सावधानियों के चलते इस बार सादगीपूर्ण ढंग से होली मनायी जाएगी और यथासंभव निश्चित दूरी सहित अन्य दिशा-निर्देशों की अनुपालना भी सुनिश्चित की जाएगी। समापन अवसर पर 29 मार्च को पुनः जलेब निकाली जाएगी।

उपायुक्त ने कहा कि हमीरपुर जिला में वर्ष का यह पहला बड़ा एवं महत्वपूर्ण आयोजन हो रहा है और पूरा मेला एवं गतिविधियां स्वर्णिम हिमाचल थीम पर ही आधारित रखने के प्रयास किए जाएंगे। उन्होंने सभी विभागों से आग्रह किया कि वे अपनी प्रदर्शनियों में हिमाचल प्रदेश व जिला के विकास को केंद्रित कर सरकार की योजनाओं एवं उपलब्धियों को जनता के मध्य तक ले जाएं। स्थानीय उद्यमियों एवं नवाचार से जुड़े लोगों को भी मेले में आमंत्रित कर उनकी सहभागिता सुनिश्चित बनाएं। महोत्सव के दौरान बेबी शो, डॉग शो, रंगोली, खेल-कूद प्रतियोगिताएं भी आकर्षण का केंद्र होंगी। होली महोत्सव की परंपरा को दर्शाती झांकी भाषा, कला एवं संस्कृति विभाग की ओर से तैयार करने के निर्देश उन्होंने दिए। इस अवसर पर स्मारिका का भी प्रकाशन किया जाएगा।

उन्होंने कहा कि सांस्कृतिक कार्यक्रमों में नामी कलाकारों के साथ-साथ उभरते हुए स्थानीय लोक कलाकारों को भी मंच उपलब्ध करवाया जाएगा। मेला आयोजन समिति ने इस बार हमीरपुर सहित बाहरी जिलों के उभरते कलाकारों के लिए भी ऑडिशन प्रक्रिया अपनाने का निर्णय लिया है, जिसके लिए अलग से एक समन्वय उप-समिति गठित की गई है। ऑडिशन के लिए जिलावार तिथियां निर्धारित कर इनका व्यापक प्रचार-प्रसार किया जाएगा।

देबाश्वेता बानिक ने कहा कि कोविड-19 के दृष्टिगत मेला मैदान में झूलों की समय सीमा एवं दुकानों की संख्या सीमित करने पर भी विचार किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि मेला मैदान में पेयजल, शौचालय एवं साफ-सफाई के उचित प्रबंध हेतु स्थानीय प्रशासन एवं नगर परिषद समय रहते सभी तैयारियां पूर्ण कर लें। मोबाइल शौचालय भी यथासंभव स्थापित किए जाएं। कानून-व्यवस्था बनाए रखने के लिए सीसीटीवी कैमरे स्थापित किए जाएंगे और लोगों को महत्वपूर्ण जानकारियां प्रदान करने के लिए नियंत्रण कक्ष में ध्वनि प्रसार सेवाएं भी उपलब्ध करवाई जाएंगी।

बैठक में मुख्य द्वार एवं मैदान की सजावट, आयोजन के लिए आर्थिक संसाधन जुटाने, खान-पान एवं परिवहन की व्यवस्था, तहबाजारी सहित अन्य मदों पर भी विस्तार से चर्चा की गई। उपायुक्त ने स्वास्थ्य विभाग से आग्रह किया कि कोविड-19 से संबंधित सभी दिशा-निर्देशों की अनुपालना सुनिश्चित करने में सहयोग दें। मास्क एवं अन्य पीपीई सामग्री की उपलब्धता भी सुनिश्चित करें।

Related posts

1 मई से सामूहिक भोज पर पूर्ण प्रतिबंध-वर वधु को मिलाकर कुल 20 लोग ही हो सकेंगे शादी में शामिल

ADM News India

राष्ट्रीय ध्वज के नाम पर ठगी करने वाले पर हो कारवाही, झूठ बोल रहा है एनएसयूआई का छात्र नेता, आम आदमी पार्टी ने लगाए आरोप

ADM News India

21अप्रैल से स्कूल खोलने, वीकेंड लॉकडाउन व नाइट कर्फ्यू पर क्या बोले सीएम जयराम ठाकुर

ADM News India