21/10/2021
HAMIRPUR

अनजान लोगों की निर्दयता से परेशान तरकेड़ी ग्रामवासी.

कहते हैं ईश्वर इस नश्वर जगत के कण-कण में विराजमान है और वह प्रत्येक जीव में निवास करता है; फिर चाहे वह मनुष्य, जीव-जंतु या पशु-पक्षी हो। परंतु आज के स्वार्थ भरे जीवन में सभी अपनी स्वार्थ सिद्धि में ही लगे हैं और इस हेतु किसी भी निम्न स्तर तक गिर सकते हैं। ऐसा ही एक निर्दयतापूर्ण व्यवहार वाला मामला खंड नादौन के तरकेड़ी नामक ग्राम में घटित हुआ है। घटना की जानकारी देते हुए नरेश मलोटिया शास्त्री ने बताया कि इस गांव की सड़क सुनसान इलाके से गुजरती है और लोग इसका फायदा उठाकर अंधेरी रात में बेजुबान पशुओं को कड़ाके भरी ठंड में छोड़ कर चले जाते हैं।
ऐसा ही पिछले दिनों किसी अनजान व्यक्ति ने एक कुत्तिया को उसके 1 दिन के 5-6 बच्चों के साथ जंगल में बेसहारा छोड़ कर किया। कुत्तिया भी इस कड़ाके की ठंड में आते-जाते राहगीरों के पास आकर आंखों में आंसू भर कर मानो अपने बच्चों को बचाने हेतु प्रार्थना कर रही हो। इस पर तरकेड़ी गांव के नवयुवक श्रवण कुमार ने हिम्मत दिखाकर उन बच्चों के लिए डिब्बे और बोरियों का प्रबंध किया तथा संपूर्ण गांव के युवकों को उसे समय पर खाना देने का आह्वान किया, जिससे इस बेजुबान पशु कुत्तिया के बच्चों की रक्षा हो सकी। इस समय युवा परिषद तरकेड़ी के समस्त युवा कुत्तिया और उनके बच्चों के लिए दूध और रोटी का प्रबंध देख रहे हैं और लोगों के निर्दयता भरे कार्यों के प्रति रोष भी प्रकट कर रहे हैं।
तरकेड़ी के युवा नरेश मलोटिया शास्त्री के अनुसार विगत वर्ष भी अनजान लोगों ने एक बैल को ट्राले से घसीट कर नीचे फेंक दिया था, जिससे उस बैल की बुरी हालत हो गई थी और उस समय भी गांव के लोगों ने उस बैल का पशु डॉक्टर के द्वारा उपचार करवाया था और तब वह चलने लायक हुआ था।

*मृत पशुओं को सुनसान रास्ते के किनारे छोड़ जाते हैं लोग।*।

गांव की सड़क सुनसान होने के कारण अनजान लोग अपने छोटे मृत गाय या भैंस के बछड़ों को सड़क के किनारे फेंक जाते हैं जिसके कारण राहगीरों को रास्ते में चलने पर दुर्गंध का शिकार होना पड़ता है। विदित रहे कि तरकेड़ी से भूम्पल के रास्ते गांव के सभी बच्चे स्कूल में विद्या प्राप्त करने हेतु जाते हैं और अन्य गांव के लोग भी इसी रास्ते से अपने नौकरी पैसे हेतु निकलते हैं; परंतु अनजान लोग मृत बछड़ों को रास्ते के किनारे फेंक कर बीमारियों का कारण उत्पन्न करते हैं। इस प्रकार की घटना से समस्त ग्रामवासी और विशेषकर युवा परिषद तरकेड़ी के सदस्य परेशान हैं। इस पर तरकेड़ी गांव के समस्त युवाओं नरेश मलोटिया शास्त्री, पंकज कुमार, अजय शर्मा, गोल्डी, सुशील कुमार, अमन मलोटिया, वरुण शर्मा, विनय शर्मा, अंकुश शर्मा, नितिन शर्मा, रविन्द्र मलोटिया, नरेश कुमार, मुकेश शर्मा, अनिल शर्मा, अमन शर्मा, शुभम मलोटिया, संतोष कुमार इत्यादि ने लोगों से अपील की है कि इस तरह के कार्यों को कोई भी न करे; जिससे कि समाज में बीमारियां और मानसिक संकुचन पैदा हो। पशु पक्षी जीव जंतु भी इस संसार के अभिन्न अंग हैं और अपने स्वार्थ की सिद्धि हेतु इन के साथ अन्याय करना भी पाप ही है।

Related posts

सुजानपुर में 5 दर्जन परिवार भारतीय जनता पार्टी में शामिल

ADM News India

पंजाब कांग्रेस के सांसद की तरह सुजानपुर विधायक करते हैं जनता को गुमराह और भ्रमित – विनोद ठाकुर

ADM News India

हमीरपुर में सेल्स अफसरों और अन्य पदों के साक्षात्कार 10 को

ADM News India