19/10/2021
HAMIRPUR

हिम केयर योजना से आर्थिक तौर पर कमजोर परिवारों का महंगा उपचार भी हुआ संभव, पांच लाख रुपए तक निःशुल्क ईलाज की सुविधा उपलब्ध, हमीरपुर जिला में साढ़े चार करोड़ से अधिक व्यय हमीरपुर /

हमीरपुर /

विकास खंड भोरंज की ग्राम पंचायत महल के महल गांव निवासी 75 वर्षीय जैसी राम गरीबी रेखा से नीचे अपना जीवन बसर कर रहे हैं। एक तो आर्थिक स्थित अच्छी नहीं और ऊपर से बिमारियों ने जैसी राम को घेर रखा है। ऐसे में उपचार के लिए धन जुटाए तो कहां से। परिवार इसी चिंता में था कि किसी ने उन्हें हिमाचल प्रदेश सरकार की हिम केयर योजना के बारे में बताया।

जैसी राम की बहू सपना ने बताया कि उन्होंने हाल ही में हिम केयर कार्ड बनवाया है। इस बीच ससुर अस्थमा व लीवर की बिमारी के कारण हमीरपुर के डॉ. राधाकृष्णन राजकीय मेडिकल कॉलेज, हमीरपुर में दाखिल हो गए। हिम केयर कार्ड होने से उनका समस्त उपचार निःशुल्क हुआ और अब ससुर को अस्पताल से छुट्टी भी मिल गई है। ऐसे में वह गरीबों के स्वास्थ्य व्यय की चिंता दूर करने वाली हिम केयर जैसी कल्याणकारी योजना प्रारम्भ करने के लिए मुख्यमंत्री श्री जयराम ठाकुर का आभार जताती हैं। इस योजना से गरीब परिवारों को अब आर्थिक तंगी के चलते मंहगे उपचार से वंचित नहीं रहना पड़ रहा है।

प्रदेश में गत तीन वर्षों में हिम केयर योजना के एक लाख 25 हजार लाभार्थियों को 129 करोड़ रुपए की निःशुल्क इलाज की सुविधा प्रदान की गई है। हमीरपुर जिला में भी हिम केयर योजना के अंतर्गत अभी तक 58,944 लोगों का पंजीकरण किया जा चुका है। जिला में योजना के अंतर्गत लगभग चार करोड़ 57 लाख 97 हजार रुपए की राशि लाभार्थियों के उपचार पर व्यय की जा चुकी है। जिला में 15 अस्पतालों को हिम केयर योजना के अंतर्गत पंजीकृत किया गया है, जबकि पूरे प्रदेश में यह संख्या 200 के करीब है। पीजीआई चंडीगढ़ में इस योजना के अंतर्गत उपचार करवाने के लिए अलग से कार्यालय स्थापित किया गया है।

हिम केयर योजना के अंतर्गत कार्डधारक परिवार के पांच सदस्यों को पंजीकृत अस्पतालों में पांच लाख रुपए तक के निःशुल्क इलाज की सुविधा प्रदान की गई है। पांच से अधिक सदस्यों वालों परिवारों को शेष सदस्यों के लिए अलग से कार्ड बनावाना होगा। आयुष्मान भारत योजना से छूटे बीपीएल परिवारों एवं स्ट्रीट वेंडर्ज (रेहड़ी-फड़ी वाले) और मनरेगा के अंतर्गत गत वित्त वर्ष में 50 दिन कार्य करने वाले मनरेगा कामगारों को इस योजना का लाभ उठाने के लिए किसी भी तरह के प्रीमियम का भुगतान नहीं करना होगा।

एकल नारी, 40 प्रतिशत से अधिक दिव्यांगता, 70 वर्ष से अधिक आयु के बुजुर्ग, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता एवं सहायिका, आशा कार्यकर्ता, मध्यान्न भोजन योजना कार्यकर्ता, सरकारी, स्वायत संस्थाओं, निगमों, बोर्डों के दैनिक भोगी, पार्ट टाइम कार्यकर्ता, अनुबंध एवं आऊटसोर्स कर्मचारी वार्षिक 365 रुपए का प्रीमियम अदा कर इस योजना का लाभ उठा सकते हैं। उपरोक्त दोनों श्रेणियों में न आने वाले तथा ऐसे लोग जो किसी सरकारी सेवा में कार्यरत या सेवानिवृत्त न हों या उनके आश्रित न हों, ऐसे लोग भी एक हजार रुपए प्रति वर्ष प्रीमियम का भुगतान कर योजना के लिए पात्र होंगे।

योजना के अंतर्गत पंजीकरण के लिए प्रतिवर्ष केवल जनवरी से मार्च माह तक तिथि निर्धारित की गई है। पंजीकरण सीधे वेबसाईट www.hpsbys.in पर अथवा लोकमित्र केंद्र/कॉमन सर्विस सेंटर के माध्यम से 50 रुपए का शुल्क अदा कर भी किया जा सकता है। हिम केयर कार्ड के नवीनीकरण के लिए वर्ष भर सेवाएं प्रदान की जाती हैं। बीपीएल परिवारों को पंचायत सचिव की ओर से एक माह पूर्व तक जारी प्रमाण पत्र, पंजीकृत स्ट्रीट वेंडर को नगर परिषद, नगर पंचायत या नगर निगम की ओर से एक माह पूर्व तक जारी पंजीकरण प्रमाण पत्र, मनरेगा कामगार को संबंधित पंचायत सचिव या खंड विकास अधिकारी से अटेस्टेड मनरेगा जॉब कार्ड एवं गत वर्ष की 50 कार्य दिवस पूर्ण करने की ऑनलाईन एमआईएस रिपोर्ट जमा करवानी होगी।

एकल नारी (जिनमें 40 वर्ष से अधिक आयु की विधवा, तलाकशुदा, कानूनी रूप से अलग रहने वाली या अविवाहित) को सीडीपीओ से जारी प्रमाण पत्र, दिव्यांग व्यक्तियों को मेडिकल प्रमाण पत्र, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता एवं सहायिका को सीडीपीओ से, आशा वर्कर को खंड चिकित्सा अधिकारी से तथा मिड-डे मील वर्कर को खंड प्राथमिक शिक्षा अधिकारी से प्रमाण पत्र, जबकि दैनिक भोगी, पार्ट टाईम वर्कर, अनुबंध एवं आऊटसोर्स कर्मचारी को अपने विभाग से प्रमाण पत्र देना होगा.

Related posts

हमीरपुर जिला में सबसे बड़ा ब्लास्ट-95 लोग निकले कोरोना पाॅजीटिव

ADM News India

जिस जरूरत मन्द को मदद की जरूरत वे हेल्पलाइन न पर सम्पर्क करें:अश्वनी कुमार

ADM News India

पूर्व मुख्यमंत्री निवास स्थान समीरपुर में रोजाना उमड़ रही लोगों के भीड़-कांग्रेस को छोड़कर भाजपा में हो रहे शामिल-कहां राणा को जितवाने का भुगत रहे खामियाजा।

ADM News India