HIMACHAL PARDESH

बेटे की मौत का सदमा नहीं सह पाई मां

बमसन ब्लॉक के गांव पंचायत काले अंब के गांव भारीं ( तरड़ी ) में सोमवार को शोक की लहर छा गई। सोमवार दोपहर लगभग 1:00 बजे भारीं गांव निवासी 76 वर्षीय ज्ञानचंद का आकस्मिक निधन हो गया तो 94 वर्षीय उसकी माता हेमा देवी अपने बेटे की मृत्यु का समाचार सुनते ही उसी समय सदमे में चली गई। अपने बेटे ज्ञानचंद की मौत के 12 घंटे के अंदर ही मां हेमा देवी ने रात लगभग 1:00 बजे अपने प्राण त्याग दिए। यह जानकारी ग्राम पंचायत काले अंब के पूर्व प्रधान रतन चंद डोगरा व वर्तमान प्रधान निर्मला डोगरा ने दी। उन्होंने बताया कि ज्ञानचंद अपनी माता के हर आदेश का पालन करता था व गांव के लोग उसे सरवन पुत्र कहकर पुकारते थे क्योंकि वह कभी भी माता के आदेश का उल्लंघन नहीं करता था ,और उसकी हर इच्छा पूरी करता था। मंगलवार सुबह जब क्षेत्र के लोगों को मां बेटे की मौत का पता चला तो इलाके में शोक की लहर दौड़ गई ।मंगलवार को इन दोनों का अंतिम संस्कार एक साथ जंमली धाम में किया गया। क्षेत्रवासियों की आंखें उस समय नम हो गई जब हेमा शर्मा को मुखाग्नि उसके दूसरे बेटे पूर्ण चंद शर्मा ने व ज्ञानचंद को मुखाग्नि उसके बेटे राजन शर्मा ने दी। मां बेटे की अंत्येष्टि के अवसर पर पंचायत के उपप्रधान संतोष राणा, वार्ड सदस्य राम सिंह, जगदीश शर्मा ,चुन्नीलाल ,प्रेमचंद शर्मा ,संतोष शर्मा व ज्ञान चंद शर्मा सहित क्षेत्र वासी उपस्थित रहे। काले अंब ग्राम पंचायत के सभी प्रतिनिधियों ने इन मां बेटे की आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना की। इस दुखद समाचार से पूरे क्षेत्र में शोक की लहर दौड़ गई है

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

x

COVID-19

India
Confirmed: 37,122,164Deaths: 486,066