HIMACHAL PARDESH

छात्रों के निष्कासन पर NSUI ने कुलपति के खिलाफ खोला मोर्चा

छात्रों का निष्कासन रद्द नही हुआ तो हर चौक-चौराहे पर होगा कुलपति के पुतले का दहन, आंदोलन के लिए तैयार रहे वि. वि. प्रशासन- छत्तर ठाकुर

प्रदेश विश्वविद्यालय मे बीते दिन तीन छात्र नेताओं के निलंबन का मामला बढ़ता जा रहा है, NSUI ने इस मामले को लेकर उग्र रूप धारण कर लिया, NSUI के प्रदेश अध्यक्ष छत्तर सिंह ठाकुर समेत तीन निलंबित छात्र पदाधिकारियों वीनू मेहता (प्रदेश उपाध्यक्ष), यासीन बट्ट (प्रदेश महासचिव), परवींन मिंहास ( वि. वि. पूर्व अध्यक्ष) ने NSUI प्रदेश मुख्यालय मे प्रेस-वार्ता कर वि. वि. प्रशासन को तानाशाह बताया | NSUI प्रदेश अध्यक्ष ने बताया की एक तरफ प्रदेश विश्व विद्यालय मे कुछ छात्र संगठन दराट – कुल्हाड़ियो से एक- दूसरे पर हमले कर रहे लेकिन आजतक विश्व विद्यालय प्रशासन कार्यवाही नही कर पाया, वही दूसरी तरफ NSUI के छात्र साथियों को छात्रों की मूलभूत समस्याओं पुस्तकालय व हॉस्टल बंद करने का विरोध किया व कोरोना के नियमो के साथ खुला रखने का आग्रह किया गया तो NSUI के पदाधिकारियों को निलंबित कर दिया, वही NSUI के पदाधिकारियों ने बताया की यह सब जो विश्व विद्यालय मे Vice-Chancellor के बेटे की गलत तरीके से Ph.D मे दाखिला दिया उसके खिलाफ NSUI ने जो मोर्चा खोल रखा था उस आंदोलन को दबाने के लिए छात्रों का निष्कासन किया गया | NSUI आने वाले दिनों मे अब और उग्र तरीके से कुलपति की आयोग्यता व विश्व विद्यालय के कुलपति के बेटे की Ph.D गलत तरीके से हुए फर्जी दाखिले को उजागर करेगी| इस दौरान NSUI प्रदेश अध्यक्ष छत्तर सिंह ठाकुर के साथ ,प्रदेश उपाध्यक्ष वीनू मेहता, प्रदेश महासचिव यासीन बट्ट , विश्व विद्यालय के पूर्व अध्यक्ष परवींन मिंहास, जिला शिमला के NSUI अध्यक्ष योगेश सिंह ठाकुर, चंदन महाजन, नितन देशटा, डैनी पांगवाल विशेष तौर पर मौजूद रहे||

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

x

COVID-19

India
Confirmed: 37,122,164Deaths: 486,066