23/09/2021
HAMIRPUR HIMACHAL PARDESH

पिता की खत्म हो चुकी राजनीतिक जमीन बचाने के दबाव में राणा पुत्र छोड़ रहे हैं नया शिगूफा: भाजपा

सुजानपुर की जनता को बरगलाने के लिए बोले गए सभी झूठों झूठ का पर्दाफाश होते ही नया शिगूफा छोड़ रहे राणा पुत्र: भाजपा
आरटीआई सूचना से स्पष्ट ऊना हमीरपुर रेलवे लाइन के सर्वे का काम प्रगति पर लेकिन राणा पुत्र  कर रहे झूठी  बयान बाजी
हमीरपुर /
       हमीरपुर भाजपा जिला मीडिया प्रभारी अंकुश दत्त शर्मा एवं सुजानपुर मंडल के मीडिया प्रभारी विनोद ठाकुर ने कहा है कि सुजानपुर विधानसभा क्षेत्र की भोली-भाली जनता को बरगलाने के लिए बोले गए आज तक के सभी झूठों का पर्दाफाश होने के पश्चात अभिषेक राणा अपने विधायक पिता की खत्म हो चुकी राजनीतिक जमीन को बचाने के दबाव में नया शिगूफा छोड़ रहे हैं। उन्होंने कहा कि राणा पुत्र द्वारा की जा रही बयानबाजी मात्र झूठ का पुलिंदा भर है जिसको भारतीय जनता पार्टी सिरे से खारिज करती है।
         उन्होंने कहा कि  सुजानपुर विधानसभा क्षेत्र में वरिष्ठ भाजपा नेता एवं पूर्व मुख्यमंत्री प्रोफेसर प्रेम कुमार धूमल के नेतृत्व में भाजपा द्वारा की जा रही जन सेवा अभिषेक राणा के पिता की प्रलोभन देने वाली झूठी राजनीति पर भारी पड़ रही है, जिस की पीड़ा अभिषेक राणा द्वारा की जा रही बयानबाजी में स्पष्ट झलकती है। भाजपा अभिषेक राणा को केवल यही नसीहत देना चाहती है कि वह अपने पिता द्वारा सुजानपुर की जनता को बरगलाने के लिए बोले गए आज तक के सभी झूठे वादों, पर क्या कार्रवाई की गई है, उसके बारे में स्थिति स्पष्ट करें। अभिषेक राणा के पिता ने जब पहली बार विधायक का चुनाव लड़ा था और केंद्र में पवन बंसल रेलवे मंत्री थे तब उन्होंने कहा था कि ऊना-अब रेलवे लाइन को नादौन से होते हुए रानीताल और ज्वालामुखी तक जोड़ा जाएगा तो अब अभिषेक राणा स्पष्ट करें कि अब तक इस रेलवे लाइन के ऊपर कितना काम हुआ है। 2017 के चुनावों में अभिषेक राणा के पिता ने सुजानपुर की जनता को वादा किया था कि सुजानपुर को सेक्टर 17  बना दूंगा, तो अभिषेक राणा से सुजानपुर की जनता यह सवाल पूछ रही है कि वह बताएं सुजानपुर में कितने सेक्टर, कितनी दुकानें आज तक बनाई गई। सेक्टर-17 चंडीगढ़ के क्या-क्या गुण सुजानपुर में लाए गए, इस बारे में भी अभिषेक राणा जनता को जवाब दें। विधानसभा चुनावों के दौरान यह घोषणा भी अभिषेक राणा के पिता ने की थी कि वह सुजानपुर के दस हज़ार युवाओं को रोजगार दिलाएंगे, जिसके बारे में भी जनता जवाब मांग रही है तो राणा पुत्र अपने पिता से पूछ कर यह सूची जारी करें कि आज तक सुजानपुर के किन किन दस हज़ार युवाओं को वह रोजगार दिलवा पाए हैं। यही नहीं एक बार अभिषेक राणा के पिता ने पंजाब के मंत्री एसएस रखड़ा को सुजानपुर में बुलाकर उनसे घोषणा करवाई थी कि उनके बहुत से कारोबार विदेशों में चलते हैं, और वह राणा के कहे अनुसार विदेशों में सुजानपुर के बच्चों को भेज कर उन्हें  मुफ़्त में पढ़ाई करवाएंगे। तो इसके बारे में भी अभिषेक राणा अपने पिता से पूछ कर यह सूची जारी करें कि सुजानपुर के कितने बच्चों को विदेश भेजा गया है, कितने पैसे अब तक सुजानपुर से विदेश भेजे गए बच्चों की पढ़ाई पर खर्च किए गए हैं, और उनके द्वारा विदेशों में पढ़ाई गए अब तक कितने बच्चे डॉक्टर बन चुके हैं कितने इंजीनियर बन चुके हैं।
        उन्होंने कहा कि हमीरपुर ऊना रेलवे लाइन के सर्वे के काम पर,  केंद्र द्वारा हमीरपुर ऊना रेलवे लाइन के लिए सैंक्शन किए गए बजट के ऊपर व केंद्रीय मंत्री अनुराग सिंह ठाकुर द्वारा किए गए वादों को पूरा करने के ऊपर जो बयान बाजी अभिषेक राणा ने की है वह सरासर झूठी है। आरटीआई एक्ट में ली गई जानकारी के अनुसार भी यह बात पूरी तरह स्पष्ट है कि उना हमीरपुर रेलवे लाइन के सर्वे का  कार्य लगातार प्रगति पर रहा है। हमीरपुर उना रेलवे लाइन के सर्वे कार्य के लिए वर्ष 18-19, 19-20 और 20-21 में कुल मिलाकर 8 करोड़ 10लाख रुपए केंद्र द्वारा एलोकेट किए गए हैं। जिनमें से वर्ष 18-19 में 46 लाख, वर्ष 19-20 में 60 लाख और वर्ष 20-21 में 2 करोड़ 17 लाख रुपए अभी तक खर्च हुए हैं। यानी कि अभी तक हमीरपुर ऊना रेलवे लाइन के सर्वे के कार्य के ऊपर लगभग 3 करोड़ 23 लाख  खर्च हुए हैं। राजनीतिक व परियोजनाओं की बजट फंडिंग की जानकारी के मामलों में अभी तक अपरिपक्व अभिषेक राणा बजट एलोकेशन में जिस एक हज़ार रुपए का राग गा रहे हैं, उनकी जानकारी के लिए यह कहना काफी है कि इस मद में पहले से ही एलोकेट किए गए फंड अभी तक पूरी तरह उपयोग नहीं किए गए हैं यानी कि पूर्व इस योजना के लिए दिए गए पैसे में से अभी भी 5 करोड़ रुपए विभाग के पास हैं  और ना ही लोकेशन सर्वे की फाइनलाइजेशन अभी तक हो पाई है, इसलिए टोकन बजट के रूप में इस वित्तीय वर्ष में एक हज़ार रुपये का प्रावधान इस योजना के लिए किया गया था।
अंकुश दत्त शर्मा ने तंज कसते हुए कहा कि हमीरपुर संसदीय क्षेत्र के सांसद व मोदी सरकार में कैबिनेट मंत्री  अनुराग ठाकुर ने सदैव प्रदेश के हितों की चिंता की है। अनुराग जी ने ना सिर्फ़ प्रदेश के विकास से जुड़े मुद्दों को दिल्ली में जमकर उठाया है बल्कि दिल्ली से कई महत्वपूर्ण प्रोजेक्ट हिमाचल लेकर आए हैं। जन आशीर्वाद यात्रा में प्रदेश के कोने कोने से लाखों लोगों ने अनुराग ठाकुर को अपना बेटा मानकर उन्हें अपना ना सिर्फ़ आशीर्वाद दिया बल्कि उनके कामों को सराहा है । कांग्रेस के नेता इतना अपार जनसमर्थन देखकर अपना मानसिक संतुलन खो चुके हैं और कुंठाग्रस्त होकर अनाप शनाप बयानबाज़ी करने लगे हैं। कुछ लोगों की तो राजनीति ही अनुराग ठाकुर का नाम जपने से से चल रही है।
विनोद ठाकुर ने कहा कि अगर कांग्रेसी नेता अभिषेक राणा पढ़ने लिखने की आदत डालते तो इन्हें पता चलता की केंद्र द्वारा किसी राज्य में लगाए जाने वाले प्रोजेक्टों में प्रदेश सरकार की भी हिस्सेदारी होती है । हिमाचल में कांग्रेस पार्टी में अपने शासनकाल के दौरान प्रदेश को इतना लूटा कि हिमाचल क़र्ज़े में डूब गया।

Related posts

एक समय में जली पति-पत्नी की चिताएं, हर आंख हुई नम

ADM News India

कैबिनेट का फैसला, सुबह 9 से रात 8 बजे तक खुलेंगी सभी दुकानें, रात 10 बजे तक रेस्टोरेंट को खोलने की मिली इजाजत

ADM News India

डबल इंजन की सरकार हिमाचल तक पहुंचते-पहुंचते पूरी तरह हांप चुकी:नरेश ठाकुर

ADM News India